Eid ul Fitr ईद-उल-फितर ईद मुस्लिम धर्मो का सबसे बड़ा त्योहार क्यों है।

Eid Ul Fitr 2020 Nayisochnews.in

ईद- विश्व भर में अनेकों धर्मों के लोग रहते हैं भारत देश में हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई धर्म के लोग रहते हैं जिनकी अपनी अपनी मान्यताएं, नियम और त्योहार हैं।

आज हम मुस्लिम धर्म के त्योहार ईद के बारे में बात करने जा रहे हैं ईद मुस्लिम धर्म का सबसे महत्वपूर्ण त्योहार है जिसे सभी मुस्लिम 30 दिन तक रोज़े रखने के बाद मनाता है।

रमजान का महीना इस्लामिक कैलेंडर में नवां और सबसे पवित्र महीना माना गया है। इस दौरान अल्लाह की इबादत करते हैं और बिना कुछ खाए पिए रोजे रखते हैं। दसवें महीने शव्वाल की पहली चांद वाली रात ईद की रात होती है। इस चांद को देखे जाने के बाद ही ईद-उल-फितर का ऐलान किया जाता है।

कुरान के मुताबिक, रजमान के पाक महीने में रोजे रखने के बाद अल्लाह एक दिन अपने बंदों को बख्शीश और इनाम देता है। इसीलिए इस दिन को ईद कहते हैं। बख्शीश और इनाम के इस दिन को ईद-उल-फितर कहा जाता है।
मुसलमान ईद में खुदा का शुक्रिया अदा इसलिए भी करते हैं कि उन्होंने महीने भर के उपवास रखने की ताकत दी। ईद पर एक खास रकम (जकात) गरीबों और जरूरतमंदों के लिए निकाल दी जाती है। नमाज के बाद परिवार में सभी लोगों का फितरा दिया जाता है, जिसमें 2 किलो ऐसी चीज दी जाती है, जो प्रतिदिन खाने की हो।रमजान महीने में रोजे रखने को फर्ज करार दिया गया है। ऐसा इसलिए, ताकि इंसान को भूख-प्यास का अहसास हो सके और वह लालच से दूर होकर सही राह पर चले। रमजान के दिन कई तरह के पकवान बनते हैं और मीठी सेवइयां एक-दूसरे को खिलाते हैं। परिवार और दोस्तों को तोहफा देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here