श्रमिक ट्रेन के शौचालय में पाई गई प्रवासी मज़दूर लाश ने सभी मज़दूरों को हैरानी में डाला।

उत्तर प्रदेश:- लोकडाउन के चलते फंसे हुए मज़दूरों की मुश्किलों को आसान करने के लिए पीएम मोदी ने श्रमिक ट्रेनें चलाने का निर्णय लिया लेकिन पूरी व्यवस्था न होने के कारण ये ट्रेनें अब इन मज़दूरों के लिए खतरा बनी नज़र आ रहीं हैं।

यह घटना उत्तर प्रदेश के के झांसी का है जहां श्रमिक ट्रेन के एक शौचालय से एक प्रवासी मज़दूर का शव बरामद किया गया जिसकी उम्र 38 साल थी पहचान करने पर पता चला कि मृतक एक बस्ती निवासी था जिसका नाम मोहन लाल शर्मा था, वह 23 मई को ट्रेन द्वारा बस्ती जाने के लिए रवाना हुआ था और 27 मई को जब ट्रेन वापस योर्ड गई तो वहाँ मृतक का शव मिला।

मोहन लाल एक दिहाड़ी मजदूर था जो कि लोक डाउन के कारण अपने घर वापस जा रहा था पुलिस का कहना है कि बॉडी के पोस्टमार्टम होने के बाद ही उसके परिजनों को सौपा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here