सुप्रीम कोर्ट ने निर्धारित की ग्रेजुएट कर्मचारीयो की न्यूनतम वेतन सीमा


New Delhi:- सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार को राहत पहुंचाते हुए यह आदेश दिया है कि दिल्ली में विभिन्न कामों की श्रेणियों के लिए निर्धारित किए गए न्यूनतम वेतन की 3 मार्च 2017 की अधिसूचना को लागू किया जाए

इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में विभिन्न नियोक्ताओं और फैक्ट्री मालिकों द्वारा दायर की गई अपीलों की जल्द से जल्द सुनवाई का आदेश दिया है, इस अधिसूचना के तहत अधिसूचित रोजगारो का न्यूनतम वेतन तय किया गया है जस्टिस
यू यू ललित ने पीठ दिखाते हुए इस मामले में किसी को भी कोई एरियर ना देते हुए मामले को रद्द कर दिया

क्लर्क और सुपरवाईज़री स्टाफ नॉन मैट्रिक 16341 प्रतिमाह ।
ग्रेजुएट और उससे ऊपर 19572 रुपए प्रतिमाह
अकुशल कामगारों को कम से कम 14842 रुपए प्रतिमाह ।
अर्धकुशल 16341 रुपए प्रतिमाह, कुशल 17991 प्रतिमाह ।
देखा जाए तो सुप्रीम कोर्ट ने न्यूनतम वेतन तय करके दिल्ली के कर्मचारियों को राहत पहुंचायी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here