शिवसेना सरकार देगी गरीबों को10 रुपये मैं खाना, लेकिन साथ ही एक शर्त है।

मुम्बई:- महाराष्ट्र सरकार द्वारा चलाई गई खाना थाली की नई योजना के तहत सरकार का निर्णय है कि सभी प्रदेशों में एक सेंटर खोला जाए,

इस थाली योजना को ध्यान में रखते हुए सरकार ने यह तय किया है कि खाना देने का काम सुबह 12 बजे से दोपहर 2 बजे तक किया जाए इस थाली में खाने के लिए एक सब्ज़ी, दाल, चावल और 2 रोटी शामिल हैं लेकिन सरकारी दफ्तरों के स्टाफ को रियायती दर पर खाना नहीं मिल सकता इस थाली की कीमत 10 रुपए तय की गई है इस योजना को “शिव भोजन” का नाम दिया गया है।

इस योजना के लिए 6 करोड़ 48 लाख रुपये खर्च अपेक्षित है जो कि पहले केवल 3 महीने के लिए शुरू की गई है।

यह योजना ग़रीबों और ज़रूरतमंद लोगों को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है जिसके लिए इसकी कीमत 10 रुपए रखी गई है और इस योजना को पहले महाराष्ट्र के ज़िला मुख्यालयों में शुरू करने का निर्णय लिया गया है

हर एक शहर में 1 ही भोजनालय खोला जाएगा जो केवल 500 लोगो को खाना देगा पहले 3 महीने यह पायलेट प्रोजेक्ट के दौरान शुरू किया जाएगा,

अगर किसी को भोजनालय शुरू करना है तो उसके लिए उनकी खुद की जगह ज़रूरी है और जिसके भी भोजनालय चल रहे हैं जैसे महिला बचत गुट, रेस्टोरेंट, एनजीओ इनमें से जो सक्षम होगा उसका चयन किया जाएगा।

इस योजना के पीछे का कारण है कि चुनाव से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जनता से वादा किया था कि जीतने के बाद वह भोजन की योजना ज़रूर बनाएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here