नागरिकता संशोधन विधेयक,आज अमित शाह पेश करेंगे लोकसभा मैं।

नई दिल्ली:- भारत सरकार के गृह मंत्री अमित शाह आज लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पेश करने जा रहे हैं, जिसके अनुसार पाकिस्तान, बांग्लादेश, और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न से पीड़ित गैर मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है
लोकसभा की कार्य सूची के मुताबिक आज दोपहर में गृह मंत्री ये विधेयक पेश करेंगे जिसके अनुसार 6 दशक पुराने नागरिकता कानून पर विचार विमर्श के बाद यह कानून पारित किया जाएगा।
नागरिकता संशोधन के इस बिल पर कांग्रेस के मनीष तिवारी, रंजन चौधरी, गौरव गोगोई, तृणमूल, अभिषेक बनर्जी, बीजेपी के किरण रिजीजू, एस एस अहलूवालिया,सत्यपाल सिंह और राजेन्द्र अग्रवाल बहस में शामिल होंगे।

पूर्वोत्तर के राज्यों में इस विधेयक को लेकर व्यापक प्रदर्शन किए जा रहे हैं और काफी लोग इस विधेयक के विरोध में जुटे हुए हैं उनका मानना है कि इस संशोधन से असम समझौता 1985 के प्रावधान निरस्त हो जाएंगे जिसमें बिना धार्मिक भेदभाव अवैध शरणार्थियों को वापस भेजने की अंतिम तिथि 24 मार्च 1971 तय है।

देखे इन लोगों को मिल सकती है नागरिकता।

हिन्दू , सिख, बौद्ध, जैन, पारसी को ओर ईसाई समुदाय के लोगों को को नागरिकता मिलेगी क्योंकि ये नागरिकता संशोधन, विधेयक,2019 के मुताबिक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न की वजह से 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए थे।
इन सभी समुदाय के लोगो को अवैध शरणार्थी नही माना जायेगा उन सभी लोगो को भारतीय नागरिकता दी जाएगी।
2014 ओर 2019 में यह विधेयक लोकसभा के चुनाव मे भाजपा का चुनावी मुद्दा था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here