JNU हिंसा के मामले में कन्हैया कुमार का मोदी सरकार पर बडा हमला, कितनी बेशर्म है ये सरकार ….

JNU में छात्रों के साथ हुई हिंसा में छात्रसंघ अध्यक्ष सहित काफी छात्र घायल हो गए हैं जिस पर राजनीतिक दलों ने अपनी प्रतिक्रिया ज़ाहिर की

JNU परिसर मैं शाम के वक़्त कुछ नकाबपोश लोगो ने कॉलेज होस्टल मैं घुस कर छात्रों और शिक्षकों पर हमला कर दिया जिसें कारण बच्चो को काफी चोट आई है और परिसर मैं संपत्ति का काफी नुकसान पहुचाया।
जिसके बाद पुलिस को बुलाया गया, जेनयू मैं छात्रों के साथ मारपीट को लेकरJNU के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार की तीखी प्रतिक्रिया आई है।
कन्हैया कुमार ने सरकार पर हमला करते हुए कहा है कहा है कि जब से ये BJP की सरकार आई है तब से देश के हर कोने मैं विधार्थियो के खिलाफ इन्होंने जंग छेड़ दी है।

कन्हैया ने ट्वीट करके कहा है कि सरकार कितनी बेशर्म हो चुकी है पहले फीस बढ़ाती है और छात्र इसका विरोध करते है तो पुलिस से पिटवाती है, फिर भी विद्यार्थी ना झुके तो अपने गुंडे भेज कर बच्चो को जान से मरवाती है हमला करवाती है।

आगे लिखते हुए कहा कि सुनो साहेब, TV से जितना झूठ फैलाना है, फैला लो! जितना बदनाम करना है, कर लो! इतिहास यही कहेगा कि आप की सरकार गरीब बच्चों के पढ़ने के खिलाफ थी और देश के विद्यार्थी आपकी इस साज़िश के ख़िलाफ़ उठ खड़े हुए क्योंकि उनकी रागों मैं गांधी, अम्बेडकर, भगतसिंह और अशफ़ाक का ख़ून है।

ऑनलाइन वायरल हुए वीडियो में, घोष के सिर से खून बहते दिखा गया । वह यह कहती सुनाई दे रही हैं, ‘ कुछ नकाब पोश लोगो ने मुझे बहुत बेरहमी से पीटा। जब मुझसे मारपीट की गई तब मैं अपने एक कार्यकर्ता के साथ थी।

JNSU ने दावा किया कि AVBP के सदस्य मुखौटे पहने हुए लाठी, छड़ और डंडों के साथ परिसर में घूम रहे थे। JNUSU ने दावा किया, “वे पत्थर फेंक रहे थे… छात्रावासों में घुस रहे हैं और छात्रों की पिटाई कर रहे हैं। कई शिक्षकों को भी पीटा गया है।” अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने आरोप लगाया कि हिंसा के पीछे वामपंथी छात्र संगठनों का हाथ है।

स्वराज अभियान के प्रमुख योगेंद्र यादव पर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) परिसर के बाहर रविवार को कथित तौर पर हमला किया गया। योगेंद्र यादव ने कहा कि वहां गुंडागर्दी को रोकने के लिए कोई नहीं था और उन्हें मीडिया से बात नहीं करने दिया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here