अयोध्या फैसला: रिव्यु पेटीशन को जमीयत दुवारा दाखिल किये जाने के बाद इकबाल अंसारी ने कह डाली ये बड़ी बात

अयोध्या: जमीयत उलेमा ए हिंद ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या विवाद पर सुनाए गये फेसले का विरोध जताते हुए सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ रिव्यु पेटीशन दाख़िल कर दिया है ऐसे में लोगों की अलग अलग प्रतिक्रियाएं आने लगी है वहीँ दूसरी तरफ इकबाल अंसारी जो की बाबरी मस्जिद के बडे पक्षकार रहे हैं उन्होने रिव्यू पेटिशन की याचिका को गलत ठहराया है उनका कहना है, कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं और संतुष्ट हैं और हम अपनी बात पर कायम हैं उन्होंने कहा कि अयोध्या विवाद राजनीति में बेहद प्रसिद्ध हैं इसलिए रिव्यु पेटिशन दाखिल करने से कोई हल नहीं निकलेगा। वहीँ दूसरी ओर हाजी मेहमूद जो कि बाबरी मस्जिद के पक्षकार हैं उन्होंने इस रिव्यू पेटीशन की याचिका को सही ठहराते हुए इसका स्वागत किया है।

हाजी मेहमूद अपनी कही बात से मुकरगये उनका कहना है कि मुस्लिम समाज कोर्ट गया है और जो फैसला आएगा देखा जाएगा याद दिला दें कि इससे पहले भी हाजी महमूद ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला होगा हम उसका स्वागत करेंगें वहीं सत्येंद्र दास राम जन्मभूमि के मुख्य आचार्य ने रिव्यू पेटिशन को गलत ठहराते हुए कहा है कि यह ठीक नहीं इससे समाज की शान्ति भंग हो सकती है वहीं जय श्री राम का नारा लगाने वाले हाजी सईद को हाजी इकबाल का साथ मिला है। नारा लगाने पर नाराजगी जताने वाले सभी कट्टरपंथी मुसलिमों पर कड़ी प्रतिक्रियाएँ दी हैं। उन्होंने कहा सभी धर्म एक बराबर है हमे सभी धर्मो का सम्मान करना चाहिए दरसल बात यह है कि राम का नारा लगाने वाले हाजी सईद अहमद पर नाराजगी जाहिर की थी और मस्जिद के मुफ्ती से माँफी मांगने का मामला भी सामने आया था इस पर हाजी इकबाल अंसारी ने कहा कि राम का नाम लेना कोई गलत वात नही है और में भी सभी धर्मों का सम्मान करते हुए राम नाम लेता हूँ।

मंदिर के आचार्य सत्येंद्र दास जी ने कहा कि सभी धर्म एक हैं और राम का नाम लेने पर किसी को सजा देना अनुचित है राम का नाम लेने पर हाजी सईद अहमद को कट्टरपंथी मुसलिमों दुवारा परेशान करना गलत है राम रहीम एक हैं और हिंदू मुस्लिम सीख ईसाई साथ होंगे तो देश का विकास होगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here