400 हिंदुओं ने कबूला इस्लाम वजह जानकर चौंक जाएंगे तमिलनाडु।

तमिलनाडु:- तमिलनाडु के कोयंबटूर के दलितों का कहना है कि जात-पात को लेकर उनके साथ हर जगह पक्षपात किया जाता है और उनके साथ हर चीज़ को लेकर भेदभाव किया जाता है और तो और उनके मंदिर में प्रवेश पर भी रोक लगाई जाती है जबकि मुस्लिम समुदाय में भेदभाव की कोई गुंजाइश ही नहीं है किसी भी जाति का मुस्लिम किसी भी मस्जिद में प्रवेश कर सकता है जिसे देखते हुए अब तक वहां के 430 लोग मुस्लिम धर्म कबूल कर चुके हैं।

तमिलनाडु में इन सभी धर्मांतरण करने वाले दलितों ने इल्ज़ाम लगाते हुए कहा है कि वे सालों से उन्हें जाती के आधार पर पक्षपात और अन्याय सहना पढ़ रहा है साथ ही इन्हें अपने मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए जगह भी नहीं मिलती।

2 दिसंबर को मेत्तूपलायम में एक दीवार 17 दलितों के ऊपर गिर गई जिससे उनकी मौत हो स्थानीय लोगों का कहना है कि य़ह दीवार एक जाति की थी जिसे दलितों की कॉलोनी के आसपास के इलाकों से दूर रखने के लिए बनाया गया था और अब इस दीवार को “अछूत दीवार” का नाम दिया गया है।

तमिलनाडु के पुलिगल के महासचिव जो कि एक दलित समर्थक हैं का मानना है कि उन्होेंने अम्बेडकर के वचनों के अनुसार अपने साथियों और प्रियजनों को इस्लाम धर्म धारण करने को कहा और बताया जा रहा है कि उनके पास अपने साथियों को जातिवाद के चंगुल से बचाने का यही रास्ता था और सुनने में आया है कि लगभग 3000 लोग इस्लाम कबुल करना चाहते हैं और 430 लोग इस्लाम कबूल कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here